Type Here to Get Search Results !

Inductor in Hindi | Definition & Working

0
दोस्तों इस आर्टिकल मैं हम जानेनेगे Inductor definition in Hindi / What is Inductor in Hindi / Inductor working in Hindi तो चलिए शुरू करते हैं-



Inductor in Hindi



Inductor एक पैसिव कॉम्पोनेन्ट (Passive Component) है जो इलेक्ट्रिकल एनर्जी को मैग्नेटिक फील्ड के रूप मैं संगृहीत/Store करने का काम  करता है।
 
जब किसी इंसुलेटेड चालक(सामान्यतः कॉपर) को प्लास्टिक या आयरन कोर(Ferromagnetic) के चारों ओर लपेट लिया जाता है तो वह कॉम्पोनेन्ट मैग्नेटिक एनर्जी को संगृहीत कर सकता है जिसको हम Coil, Choke या Inductor कहते हैं। 


Inductor in Hindi | Definition, Working and Applications
Inductor Coil 
Inductor in Hindi | Definition, Working and Applications
Symbol 



Inductor का Inductance 




Inductor की कैपेसिटी को Inductance मैं मापा जाता है जिसका मान वोल्टेज और करंट मैं परिवर्तन की दर के अनुपात के बराबर होता है। 
                                        L= V/ (dI/dt)   

Inductor की SI में इकाई हेनरी (H) है जिसका नाम 19 वीं सदी के अमेरिकी वैज्ञानिक जोसेफ हेनरी के नाम पर है। मैग्नेटिक सर्किट्स मैं इसको वेबर/एम्पीयर भी लिखा जाता है। Inductor की रेंज 1μH से 20H तक होते हैं। 




Inductor Working principle



Electromagnetic induction

Inductor का सिद्धांत Electromagnetic induction पर काम करता है। किसी चालक मैं विद्युत् धारा प्रवाहित होती है तो चालक के चारों मैग्नेटिक फ्लक्स रेखाएं उन्पन्न होती है। जिसे मैग्नेटिक फील्ड कहते हैं।  


फैराडे के अनुसार- जब किसी Coil मैं परिवर्ती विद्युत् धारा प्रवाहित होती है तो coil के चारों ओर परिवर्ती मैग्नेटिक फ्लक्स बनता है। जिससे एक Electromotive Force (EMF या वोल्टेज) उत्पन्न होता है। 



लेंज़ के अनुसार- उत्पन्न Electromotive Force (EMF) की दिशा विद्युत धारा मैं होने वाले बदलाव का विरोध करती है। जिससे वह स्वयं उत्पन्न होता है।

                                परिवर्ती धारा>>परिवर्ती मैग्नेटिक फ्लक्स>>EMF
 EMF= -dΦ/dt


अतः Inductor भी करंट मैं होने वाले होने वाले बदलाव का विरोध करता है। 
Electromagnetic induction दो प्रकार से होता है। 



1. Self  induction


जब किसी Coil मैं परिवर्ती विद्युत् धारा प्रवाहित होती है तो coil के चारों ओर परिवर्ती मैग्नेटिक फ्लक्स बनता है। जिससे उस  Coil मैं एक Electromotive Force (EMF या वोल्टेज) उत्पन्न होता है। इसे सेल्फ इंडक्शन कहते हैं। 

2 . Mutual induction


जब किसी Coil मैं परिवर्ती विद्युत् धारा प्रवाहित होती है तो परिवर्ती मैग्नेटिक फ्लक्स बनता बनता है यदि यह परिवर्ती मैग्नेटिक फ्लक्स किसी समीप रखी सेकेंडरी Coil के साथ लिंक करता है तो सेकेंडरी Coil मैं एक Electromotive Force उत्पन्न होता है। इस  क्रिया को Mutual induction कहते हैं। 

Tags

Post a Comment

0 Comments